Virat kohli
Prev1 of 5
Use your ← → (arrow) keys to browse

भारतीय कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) को जितना अच्छा बल्लेबाज माना जाता है, उतना ही अच्छा कप्तान भी माना जाता है। कोहली की कप्तानी में भारतीय टीम दो बार आईसीसी टूर्नामेंट्स के फाइनल में पहुंच चुकी है। हालांकि जीत नहीं सकी, लेकिन हर बार उसने खुद को साबित किया है। विराट कोहली का नेतृत्व हर बार गुणवत्तापूर्ण ही रहा है। बस भाग्य के साथ की थोड़ी कमी रही।

कोहली ने टीम की कमान 2014 में संभाली थी। तब से 2017 में चैम्पियंस ट्रॉफी, 2019 में ICC क्रिकेट विश्वकप और अभी हाल में ही 2021 में विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप में कप्तानी की है। लेकिन, एक भी बार खिताब जीतने में नाकामयाब रहे। आज हम उन कारणों के बारे में बताएंगे कि आखिर कोहली क्यों नहीं जीत पा रहे हैं आईसीसी ट्रॉफी।

Virat Kohli की हार के ये हैं पांच बड़े कारण

1. बड़े मौकों पर खिलाड़ी नहीं चलते

kohli virat and bumrah

भारतीय टीम में इस वक्त कप्तान Virat Kohli को मिलाकर तीन ऐसे बड़े नाम हैं, जिनके दम पर भारतीय टीम हर टूर्नामेंट में आगे बढ़ती है। टीम में कप्तान विराट कोहली, सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा और तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह, तीन ऐसे खिलाड़ी हैं जो पूरे टूर्नामेंट में तो बेहतर प्रदर्शन करते हैं, लेकिन जब बात खिताबी मुकाबले की आती है तो वो उम्मीद के मुताबिक प्रदर्शन नहीं कर पाते हैं।

टीम इंडिया के लिए यही सबसे बड़ी समस्या बन जाती है। इन खिलाड़ियों की एक छोटी सी गलती पूरी टीम के लिए मुश्किल खड़ी कर देती है। 2017 की चैम्पियंस ट्रॉफी का फाइनल हो या फिर 2019 विश्वकप का सेमीफाइनल, दोनों ही मौकों पर कोहली और रोहित जल्दी पवेलियन लौट गए थे। यही हाल टेस्ट चैम्पियनशिप के फाइनल मैच में भी रहा।

Prev1 of 5
Use your ← → (arrow) keys to browse