amol
Prev1 of 5
Use your ← → (arrow) keys to browse

भारत में रहने वाले 1.3 अरब से भी ज्यादा लोग क्रिकेट को धर्म की तरह मानते हैं. कई क्रिकेटर्स को भगवान की तरह पूजा जाता है. इसी क्रिकेट ने भारत को कई दिग्गज और महान क्रिकेटर्स दिए हैं. जिनके प्रदर्शन से भारतीय टीम (Indian Team) को नई ऊचाईयां दी हैं.

इन खिलाड़ियों के अलावा देश में कई और खिलाड़ी भी जन्मे हैं. जिनमें प्रतिभा की कमी ना होने के बावजूद एक भी बार जौहर दिखाने का मौका नहीं मिला. आज इस लेख में हम आपको ऐसे ही क्रिकेटरों के बारे में बताएंगे जिन्हें घरेलू क्रिकेट में बेहतर प्रदर्शन के बाद भी भारत की तरफ से खेलने का मौका कभी नहीं मिल पाया.

ये पांच क्रिकेटर खेल सकते थे Indian Team के लिए

1. सितांशु कोटक (Sitanshu Kotak)

sitanshu-kotak

सौराष्ट्र के लिए बाएं हाथ से बल्लेबाजी करने वाले सितांशु कोटक ने 90 के दशक में अपनी बल्लेबाजी से सभी को मंत्रमुग्ध कर लिया था. कोटक ने अपने 130 प्रथम श्रेणी मैचों में 41.76 की औसत के साथ 8061 रन बनाए हैं. यही नहीं इस पूर्व धाकड़ बल्लेबाज ने 165 अर्द्धशतक और 55 शतक भी जड़े थे.

उन्होंने प्रथम श्रेणी में 70 विकेट भी झटके थे. सितांशु ने अपने लिस्ट ए के 89 मैचों में 54 विकेट लेने के साथ ही 3083 रन भी बनाए हैं. यही नहीं राहुल द्रविड़ के हटने के बाद सितांशु को इंडिया ए का मुख्य कोच भी चुना गया था. Indian Team के लिए इस खिलाड़ी को भी जलवा दिखाने का मौका नहीं मिला.

Prev1 of 5
Use your ← → (arrow) keys to browse