Prev1 of 5
Use your ← → (arrow) keys to browse

हर कप्तान का सपना होता है कि वह आईसीसी विश्व कप की ट्रॉफी को अपने देश के लिए जीते. हालाँकि अन्तराष्ट्रीय स्तर पर अपने देश की टीम की कप्तानी करना बेहद मुश्किल काम हैं. कप्तान की जिम्मेदारी होती हैं वह अपने सभी खिलाड़ियों से उनका सर्वोच्च प्रदर्शन उनसे निकलवा सके.

हालाँकि कुछ ऐसे कप्तान भी रहे हैं, जिन्हें कप्तान बनाये जाने के बाद उनके व्यक्तिगत प्रदर्शन में गजब का उछाल देखने को मिला हैं. अपने कप्तानी के दिनों में उनका रिकॉर्ड शानदार रहा, लेंकिन किसी दुर्भाग्यवश वो कप्तान अपनी राष्ट्रीय टीम के लिए एक भी आईसीसी ट्रॉफी नहीं जीत सके.

इस लिस्ट में कई दिग्गज कप्तानों का भी नाम जिन्हें आज भी महान कप्तानों की श्रेणी में रखा जाता है. इसी कारण आज के इस विशेष लेख में आज आपको हम 5 ऐसे सफल कप्तानों की बात करेंगे. जो जिन्होंने टीम को अपने नेतृत्व में खूब सफलता के स्वाद चखाए, लेकिन अपनी कप्तानी में एक भी आईसीसी ट्रॉफी नहीं जीत सके.

5. ग्रीम स्मिथ- दक्षिण अफ्रीका

हमारी इस लिस्ट में पांचवां नाम ग्रीम स्मिथ का है.दक्षिण अफ्रीका के सफल कप्तानों में से एक ग्रीम स्मिथ ने बतौर कप्तान दक्षिण अफ्रीका के लिए 150 मैचों में कप्तानी की, जिनमें से 92 मैच जीते हैं, 51 मैचों में हार मिली और एक मैच टाई रहा. इसके आलावा वह किसी टेस्ट में 100 मैचों में कप्तानी करने वाले भी इकलौते कप्तान हैं.

हालाँकि आईसीसी टूर्नामेंट में उनका प्रदर्शन हमेशा खराब रहा हैं. स्मिथ ने 2007 और 2011 दो विश्व कप में दक्षिण अफ्रीका की कप्तानी की. मगर उनके हाथ कप नहीं लगा. 2007 में द. अफ्रीका को ऑस्ट्रेलिया ने सेमीफाइनल में हरा कर बाहर कर दिया था, जबकि 2011 के विश्व कप के क्वार्टर फइनल में न्यूजीलैंड के सामने 222 रनों के लक्ष्य तक दक्षिण अफ्रीका की टीम नहीं पहुंच सकी थी.

इसके आलावा स्मिथ को 2007, 2009 और 2010 के टी-20 विश्व कप में भी हार का सामना करना पड़ा था. आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी 2006 और 2009 में भी साउथ अफ्रीका को हार ही मिली थी. इसी कारण स्मिथ भी इन्ही दुर्भाग्यशाली कप्तानों में से एक हैं जिन्होंने अपने देश के लिए एक भी आईसीसी टूर्नामेंट नहीं जीता.

Prev1 of 5
Use your ← → (arrow) keys to browse

Ashutosh Tripathi

मैं एक पत्रकार हूँ. पत्रकार ना तो आस्तिक होता है और ना तो नास्तिक होता है बल्कि...