मौजूदा समय में क्रिकेट के गलियारों में ऋषभ पंत की खराब फॉर्म की बहुत ज्यादा चर्चा सुनने को मिल रही हैं. विश्व कप 2019 के बाद ऋषभ पन्त को पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के विकल्प के रूप में देखा जा रहा था, लेकिन पहले वेस्टइंडीज टूर और उसके बाद दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ घरेलू सीरीज दोनों ही जगह ऋषभ पंत का बल्ला एकदम शांत रहा.

अब तो यहाँ तक कहा जाने लगा है, कि ऋषभ को टीम से ड्रॉप कर रिद्धिमान साहा को टेस्ट और सिमित ओवर के प्रारूप में संजू सैमसन या ईशान किशन को मौका देना चाहिए.

हाल फिलहाल में भले ही ऋषभ पंत की जमकर आलोचना देखने और सुनने को मिल रही हो, लेकिन आपने छोटे से करियर में ऋषभ पन्त ने वो बड़े बड़े कारनामे कर चुके है जो अपने पूरे क्रिकेट सफर में एमएस धोनी कभी नहीं कर पाए.

आज हम आपको अपने इस लेख के जरिये उन पांच बड़े रिकार्ड्स के बारे में बताने जा रहे हैं, जो ऋषभ पंत ने अपने नाम पर हासिल किये लेकिन महेंद्र सिंह धोनी कभी नहीं बना सके.

आइये डालते है, एक नजर ऐसे ही 5 बड़े रिकार्ड्स पर –

5 . इंग्लैंड की सरजमी पर टेस्ट शतक 

साल 2018 में टीम इंडिया विराट कोहली की अगुवाई में इंग्लैंड के दौरे पर पांच टेस्ट मैचों की श्रृंखला खेलने गई थी और सीरीज का अंतिम टेस्ट मैच के दौरान ऋषभ पन्त ने शानदार शतक लगाकर सभी का ध्यान अपनी ओर खींचा था.

इंग्लैंड और भारत के बीच अंतिम टेस्ट केनिंग्टन ओवल के मैदान पर खेला गया था और इस टेस्ट की चौथी पारी में ऋषभ पंत ने 146 गेंदों के भीतर 114 रनों की पारी खेली थी. अपनी इस पारी में ऋषभ ने 15 चौके और चार छक्के भी जड़े थे.

वही एमएस धोनी की बात की जाए तो धोनी कभी भी इंग्लैंड की सरजमीं पर टेस्ट शतक नहीं लगा सके. एमएस धोनी ने साल 2007, साल 2011 और साल 2014 के इंग्लैंड दौरे किये, लेकिन शतक नहीं जमा सके. इंग्लैंड की सरजमीं पर महेंद्र सिंह धोनी ने 12 टेस्ट मैच खेले और इस दौरान उनके बल्ले से 23 पारियों में आठ अर्द्धशतक आये और धोनी का सबसे बढ़िया स्कोर 92 रन रहा.

AKHIL GUPTA

क्रिकेट...क्रिकेट...क्रिकेट...इस नाम के अलावा मुझे और कुछ पता नहीं हैं. बस क्रिकेट से बेहद प्यार हैं. हमेशा से ही क्रिकेट के बारे में लिखना बहुत पसंद हैं. महेंद्र सिंह धोनी मेरे पसंदीदा खिलाड़ी हैं.

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *