Prithvi Raj Yarra

भारतीय क्रिकेट टीम में फिलहाल कई स्टार तेज गेंदबाज भरे पड़े है। लेकिन टीम मे ज्यादातर गेंदबाज ऐसे है जो दाए हाथ से गेंदबाजी करते है। टीम इंडिया में आज भी ऐसे खिलाड़ियों की कमी है जो टीम के लिए बाये हाथ से गेंदबाजी कर सके। भारतीय क्रिकेट टीम ने अब तक खलील अहमद, जयदेव उनादकट, बरिंदर सरन जैसे कई बाये हाथ के गेंदबाजों को आजमाया।

लेकिन यह खिलाड़ी टीम के लिए उतना अच्छा प्रदर्शन करने में असफल हुए। फिलहाल भारतीय टीम टी नटराजन को एक बाये हाथ के तेज गेंदबाज के तौर पर टीम में मौका दे रही है, और उन्होंने बेहतरीन प्रदर्शन भी किया। इसी क्रम में हम बात करेंगे 5 ऐसे खिलाड़ियों के बारे में जिनको अगले साल वर्ल्ड कप से पहले टीम में मौका देना चाहिए।

यारा पृथ्वीराज

prithwirajyarra 1602033183

घरेलू क्रिकेट में आंध्र प्रदेश का प्रतिनिधित्व करने वाले बाएं हाथ के तेज गेंदबाज यारा पृथ्वीराज उन युवा तेज गेंदबाजों में से एक है जीके सामने अच्छे-अच्छे बल्लेबाजों के लिए रन बनाना मुश्किल हो जाता है। पृथ्वीराज ने साल 2018 रणजी ट्रॉफी के दौरान अपने घरेलू क्रिकेट करियर की शुरुआत की। इस साल उन्होंने इतना बेहतरीन प्रदर्शन किया की लोग उनसे काफी प्रभावित हुए।

पृथ्‍वीराज ने अभी तक 11 फर्स्‍ट क्‍लास मैचों में 39 विकेट झटके, वहीं लिस्‍ट ए क्रिकेट में उन्होंने 9 मैचों में 15 विकेट झटके। 3 टी-20 मैचों में उन्हे 4 विकेट मिले। आईपीएल में भी उन्हे अब तक 2 मैचों में मौका मिल चुका है, हालांकि उन्हे सिर्फ 1 विकेट मिला था। पिछले साल फरवरी में पृथ्‍वीराज ने सैयद मुश्‍ताक अली ट्रॉफी में शानदार प्रदर्शन के जरिए सुर्खियां बटोरी थीं।

उन्‍होंने झारखंड के खिलाफ खेले गए मैच के दौरान आखिरी ओवर 6 रन का बचाव किया और टीम को जीत दिलाई। उन्‍होंने मैच के आखिरी ओवर में केवल 2 दिए और एक रन आउट सहित तीन विकेट निकाल। उनके प्रदर्शन को देखते हुए लगता है उन्हे भारतीय टीम में मौका मिलना चाहिए।

अर्शदीप सिह

तेज गेंदबाज

आईपीएल में किंग्स इलेवन पंजाब के लिए शानदार प्रदर्शन का जलवा बिखरने वाले अर्शदीप सिह भी टीम इंडिया में जगह बनाने के लिए प्रवल दावेदारों में से एक है। बाये हाथ का यह तेज गेंदबाज अब तक आईपीएल में 11 मैच खेल चुके है। इस दौरान उन्हे कुल 12 विकेट मिले, उनके प्रदर्शन पर नजर डाले तो वह टीम के लिए कई बार संकटमोचक की भूमिका निभाए।

अगर घरेलू क्रिकेट की बात करें तो 21 वर्षीय इस तेज गेंदबाज ने फर्स्ट क्लास क्रिकेट में 3 मैच खेले, जिसमें उन्होंने 11 विकेट झटके। वहीं 10 लिस्ट A मैचों में वह 11 विकेट झटक चुके है। इनके प्रदर्शन को देखकर लगता है की अगर भारतीय टीम एक बाये हाथ के गेंदबाज के तौर पर इन्हे मौका देती है तो बेहतरीन प्रदर्शन कर सकते है।

टी नटराजन

टी नटराजन

आईपीएल में हैदराबाद के लिए धमाल मचाने के बाद भारतीय टीम में इंट्री करने वाले स्टार गेंदबाज टी नटराजन से फिलहाल बेहतरीन प्रदर्शन का नजारा देखने को मिल रहा है। भारतीय फैंस को उम्मीद है की नटराजन भारत के भविष्य बनेंगे। ऐसे भारतीय टीम को नटराजन को ज्यादा से ज्यादा मौके देना होगा।

अगर टीम नटराजन को ज्यादा से ज्यादा मौका देती है तो वह टीम के लिए आगामी वर्ल्ड कप में बेहतरीन प्रदर्शन कर सकते है। नटराजन अगर टीम के लिए कुछ मैचों में अच्छा प्रदर्शन करने में असफल रहे तो टीम को उनपर अपना भरोसा बरकरार रखना होगा। इससे पहले टीम में और भी बाये हाथ के तेज गेंदबाज मौजूद थे लेकिन टीम ने उनके कहर्ब प्रदर्शन के बाद बाहर कर दिया।

खलील अहमद

khaleel ahmed ap 1540819606

भारतीय क्रिकेट टीम को अगर अनुभवी बाये हाथ के तेज गेंदबाज की जरूरत हो तो टीम मैनेजमेंट खलील अहमद को मौका देने के बारे में सोच सकते है। खलील अहमद मौजूदा समय में भारतीय टीम के बाये हाथ के सबसे अनुभवी तेज गेंदबाजों में से एक है। खलील अहमद ने भारत के लिए अब तक कुल 14 टी-20 मैच और 11 वनडे खेले।

अगर उनके गेंदबाजी प्रदर्शन की बात करें तो उन्होंने वनडे मैचों में 15 विकेट और टी-20 मैचों में 13 विकेट झटके। खलील अहमद भी आईपीएल में नटराजन के साथ हैदराबाद के लिए खेलते है। आईपीएल में उनके आँकड़े काफी अच्छे रहे है।

कुलवंत खेजरोलिया

khejroliya 1200

आईपीएल में आरसीबी और मुंबई इंडियंस का हिस्सा रह चुके कुलवंत खेजरोलिया भी उन युवा तेज गेंदबाजों में से एक है जिन्हे अगर एक बाये हाथ के तेज गेंदबाज के तौर पर टीम का प्रतिनिधित्व करने का मौका मिले तो बेहतरीन प्रदर्शन कर सकते है। कुलवंत खेजरोलिया आईपीएल में आरसीबी का हिस्सा रह चुके है लेकिन उनसे प्रभावी प्रदर्शन देखने को नहीं मिला।

हालांकि अगर उनके घरेलू क्रिकेट के आंकड़ों पर नजर डाले तो उन्होंने अब तक 20 लिस्ट ए मैचों में 48 विकेट झटके, वहीं 15 टी-20 मैचों में वह 17 विकेट झटक चुके है। उनके प्रदर्शन को देखते हुए लगता है की अगर उन्हे भारतीय टीम में भी मौका मिले तो वह बेहतरीन प्रदर्शन कर सकते है। ऐसे में भारतीय टीम को साल 2021 टी-20 वर्ल्ड कप से पहले इन्हे जरूर आजमाना चाहिए।