क्रिकेट के दुनिया में आज के समय में भारतीय टीम राज करती हुई नजर आ रही है. हालाँकि ये स्थिति अचानक नहीं आई है. शुरुआत में भारतीय टीम के पास बहुत अच्छे कप्तान नहीं थे. लेकिन फिर अच्छे कप्तानों की लिस्ट आई है. जिन्होंने लगातार बेहतर काम किया है.

भारतीय टीम के कप्तानों ने पीढ़ी दर पीढ़ी मिलकर अच्छे से कप्तानी की जिसके कारण आज सफलता की कहानी लिखी है. लिस्ट में कई नाम शामिल हैं. हालाँकि कुछ ही भारतीय कप्तान ऐसे हैं जिन्होंने लंबे समय तक टीम की कप्तानी संभाली है.

आज हम आपको उन 5 भारतीय टीम के कप्तानों के बारें में बताएँगे. जिनका एकदिवसीय फ़ॉर्मेट में जीत प्रतिशत बहुत ही शानदार रहा है. इन कप्तानों में सिर्फ दिग्गज खिलाड़ियों का नाम ही नजर आ रहा है. हालाँकि कुछ नाम बहुत ज्यादा चौकाने वाले भी नजर आ रहे हैं. इस लिस्ट में दिग्गज कप्तान का नाम शामिल नहीं है.

5. सौरव गांगुली

फिक्सिंग से जूझ रही भारतीय टीम की कप्तानी जब सौरव गांगुली के हाथों में आई तो उन्होंने इस टीम के खेलने का अंदाज ही पूरी तरह से बदल दिया. विदेशो में जाकर भी भारत की टीम ने जीतना शुरू किया था. जबकि आक्रामकता भी भारतीय टीम के खेल में नजर आ रहा था.

सौरव गांगुली ने भारतीय टीम के लिए एकदिवसीय फ़ॉर्मेट में 146 मैच में कप्तानी की है. जिसमें से उन्होंने 76 मैच में जीत दर्ज किया है. जबकि 65 मैच में उन्हें हार का सामना करना पड़ा है. इस बीच गांगुली के कप्तानी में 5 मैच बेनतीजा भी रहे हैं.

गांगुली का जीत प्रतिशत ध्यान में रखें तो वो 53.90 का रहा है. दिग्गज कप्तान होने के बाद भी दादा इस लिस्ट में नंबर 5 पर नजर आ रहे हैं. सौरव गांगुली ने अपने कप्तानी में कई दिग्गज खिलाड़ियों को आगे बढ़ने का मौका दिया. जो बाद में सफलता की वजह भी बने.

4. कपिल देव

पहली बार भारतीय टीम को विश्व विजेता बनाने वाले कप्तान कपिल देव ही हैं. उनकी कप्तानी में ही भारतीय टीम ने 1983 में विश्व कप पर कब्ज़ा जमाया था. उसके बाद भी वो इस लिस्ट में नंबर 4 पर नजर आ रहे हैं. हालाँकि यहाँ पर मामला जीत प्रतिशत पर टिका हुआ है.

कपिल देव ने भारतीय टीम के लिए एकदिवसीय फ़ॉर्मेट में 74 मैच में ही कप्तानी की है. जिसमें से उन्होंने 39 मैच में जीत दर्ज किया था. जबकि 33 मैच में उन्हें हार का सामना भी करना पड़ा था. इसके साथ ही 2 मैच बेनतीजा भी रहे थे.

दिग्गज आलराउंडर कपिल देव के कप्तानी में भारतीय टीम का जीत प्रतिशत 54.16 का रहा है. उनकी कप्तानी में भारत की टीम ने पहली बार सभी विपक्षी टीम को बताया था की भारत सिर्फ हिस्सा लेने के लिए ही नहीं आता है. उन्हें टूर्नामेंट जीतना भी अच्छे से आता है.

3. राहुल द्रविड़

दादा के बाद भारतीय टीम की इस फ़ॉर्मेट में कप्तानी सँभालने वाले राहुल द्रविड़ ही थे. उन्होंने भारतीय टीम को वो लय नहीं खोने दिया. जिसे सौरव गांगुली ने बनाया था. जिसके कारण इस लिस्ट में वो नंबर 3 पर नजर आ रहे हैं. जो राहुल द्रविड़ के लिए बड़ी उपलब्धि हैं.

राहुल द्रविड़ ने भारतीय टीम के लिए एकदिवसीय फ़ॉर्मेट में 79 मैच में ही कप्तानी की है. जिसमें से उन्होंने 42  मैच में जीत दर्ज किया था. जबकि 33 मैच में उन्हें हार का सामना भी करना पड़ा था. इसके साथ ही 4 मैच बेनतीजा भी रहे थे.

द्रविड़ के कप्तानी में भारतीय टीम का जीत प्रतिशत 56 का रहा था. उनकी कप्तानी में भले ही भारत की टीम ने 2007 विश्व कप का बुरा दौर देखा लेकिन उसके अलावा उन्होंने अपनी टीम के लिए कुछ बड़ी उपलब्धि भी हासिल किया था. जिसे आज भी याद किया जाता है.

2. महेंद्र सिंह धोनी

धोनी

सबसे सफल कप्तानों में से एक महेंद्र सिंह धोनी ने बहुत लंबे समय तक भारत की टीम की कप्तानी संभाली हुई थी. उनकी कप्तानी में भारतीय टीम ने विश्व कप जीता और फिर चैंपियंस ट्रॉफी का खिताब भी अपने नाम किया था. जो खुद उनके कप्तानी का स्तर भी साफ़ जाहिर करता है.

महेंद्र सिंह धोनी ने भारतीय टीम के लिए एकदिवसीय फ़ॉर्मेट में 200 मैच में ही कप्तानी की है. जिसमें से उन्होंने 110 मैच में जीत दर्ज किया था. जबकि 74 मैच में उन्हें हार का सामना भी करना पड़ा था. इसके साथ ही 11 मैच बेनतीजा भी रहे थे. जबकि 5 मैच टाई भी हुए थे.

धोनी के कप्तानी में भारतीय इम का जीत प्रतिशत 59.52 का रहा है. उनकी कप्तानी में भारत की टीम ने हर वो इतिहास बनाया. जिसके लिए टीम लंबे समय से इंतजार करती हुई नजर आ रही थी. महेंद्र सिंह धोनी ने हर खिताब भारत की टीम को दिलाया था. जो उनकी बड़ी जीत भी रही.

1. विराट कोहली

मौजूदा समय में भारतीय टीम की कप्तानी संभाल रहे विराट कोहली इस लिस्ट में नंबर एक पर नजर आ रहे हैं. उन्होंने विदेशो में जाकर भी भारत की टीम को एकदिवसीय सीरीज जीताया है. हालाँकि अभी भी विराट कोहली के कप्तानी में भारत की टीम ने आईसीसी ट्रॉफी नहीं जीती है.

विराट कोहली ने भारतीय टीम के लिए एकदिवसीय फ़ॉर्मेट में 89 मैच में ही अब तक कप्तानी की है. जिसमें से उन्होंने 62 मैच में जीत दर्ज किया है. जबकि 24 मैच में उन्हें हार का सामना भी करना पड़ा हैं. इसके साथ ही 2 मैच बेनतीजा भी रहे हैं. जबकि 1 मैच टाई भी हुए है.

कोहली का भारतीय टीम के लिए अब तक जीत प्रतिशत 71.83 का रहा है. जो किसी भी मामले में बहुत ज्यादा नजर आता है. अभी भी विराट कोहली को बहुत ज्यादा मैच में भारत की टीम की कप्तानी करनी है. जहाँ पर उनसे बहुत ज्यादा मैच में जीत दर्ज करने की उम्मीद भी हैं.