Bangladesh's Mushfiqur Rahim(L)gestures towards Indian bowler Hardik Panday after scoring a boundary during the World T20 cricket tournament match between India and Bangladesh at The Chinnaswamy Stadium in Bangalore on March 23, 2016. / AFP / MANJUNATH KIRAN (Photo credit should read MANJUNATH KIRAN/AFP/Getty Images)
Prev1 of 5
Use your ← → (arrow) keys to browse

कभी-कभी क्रिकेट में देखा गया है कि कुछ खिलाड़ी अपनी टीम की जीत से पहले ही जश्न मनाने लगते हैं. ऐसा इस खेल में कई बार हो चूका है. आज हम आपकों अपने इस ख़ास लेख में क्रिकेट  इतिहास की उन पांच घटनाओं के बारे में ही बताएंगे, जब खिलाड़ियों ने  सेलिब्रेशन जल्द कर लिए थे और बाद में उन्हें इसके लिए शर्मिंदा भी होना पड़ा था.

रविचंद्रन अश्विन

सैयद मुश्ताक अली टूर्नामेंट 2019 का फाइनल मुकाबला कर्नाटक और तमिलनाडू के बीच सूरत के लालभाई कॉन्ट्रैक्टर क्रिकेट स्टेडियम में खेला गया था. इस रोमांचक फाइनल मुकाबले को कर्नाटक की टीम ने अपने शानदार प्रदर्शन के चलते 1 रन के करीबी अंतर से जीत लिया था और लगातार दूसरी बार ट्रॉफी में अपना कब्ज़ा जमा लिया था.

इस मैच के दौरान तमिलनाडु को अंतिम ओवर में जीत के लिए 13 रन चाहिए थे. के गौथम की शुरूआती 2 गेंद पर 2 चौके लगाकर रविचंद्रन अश्विन ने अपनी टीम को आशा की किरण दी थी. वह इन 2 चौकों लगाने के बाद काफी खुश हो गया और उन्हें लगा की वह आसानी से अब मैच को जीत जाएंगे.

हालांकि ऐसा नहीं हो पाया और अंत में कर्नाटक की टीम 1 रन से मैच जीतने में कामयाब हो गई. जल्दी सेलिब्रेशन करने के चक्कर में अश्विन को सोशल मीडिया में काफी ट्रोल भी होना पड़ा था.

Here is the drama of last over…. pic.twitter.com/JXqt19TrE9

— Aarenn (@KarnatakaCrickt) December 1, 2019

Prev1 of 5
Use your ← → (arrow) keys to browse