आईपीएल का आगाज आज यानि शनिवार को वानखेड़े क्रिकेट स्टेडियम में चेन्नई बनाम मुंबई के बीच शुरू हो जाएगा। आईपीएल ने पिछले 10 सीजन से कई युवा खिलाड़ियों को फर्श से अर्श तक पहुंचाने का काम किया है।

आईपीएल को नए खिलाड़ियों के लिए गोल्डन चांस के रूप में जाना जाता है। लेकिन इस बार कई दिग्गज खिलाड़ियों को भी आईपीएल में मौका नहीं मिला है। आज हम ऐसे कुछ भारतीय खिलाड़ियों के बारे  में बताने जा रहे हैं,जो शायद इसके बाद कभी भी आईपीएल का मुंह न देख पाएं।

ईशांत शर्मा

2d6e58ff4b17a3084bd0a9f9c96af8a1 2

आईपीएल में बेहतरीन प्रदर्शन करना हर फ्रेंचाइजी की जरूरत हो गई हैं। टीमों का अपना एक मानक है और जो खिलाड़ी इन मानकों पर खरे उतरे हैं उन्हें आईपीएल अच्छी बोली मिलती हैं। इसके विपरीत प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ियों को अनसोल्ड होने का खतरा रहता है। ऐसे ही एक खिलाड़ी हैं ईशांत शर्मा। इस बार आईपीएल में किसी भी टीम ने ईशांत शर्मा पर रकम नहीं लगाई।

आईपीएल में शर्मा को जगह न मिलने की वजह उनका महंगा साबित होना है। वो हर मैच में काफी रन देते हैं। इस वजह से टीम उनसे बचती नजर आई। ईशांत शर्मा ने पिछले साल 6 मैचों में गेंदबाजी की लेकिन इस दौरान इन्हें एक भी सफलता नहीं मिली।  तभी से इस बात के कयास लगाए जा रहे थे कि आईपीएल में ईशांत का खेल पाना मुश्किल है।

चेतेश्वर पुजारा

Cheteshwar Pujara

सौराष्ट्र की तरफ से खेलने वाले चेतेश्वर पुजारा भी उन चार भारतीय खिलाड़ियों में शामिल हैं जो इसके बाद कभी आईपीएल का मुंह नहीं देख पाएंगे। बता दें कि चेतेश्वर पुजारा को मुख्य तौर पर टेस्ट का बल्लेबाज कहा जाता हैं और उन्होंने खेल के छोटे प्रारूप को लेकर कोई सुधार भी नहीं किया है।

पुजारा आईपीएल के चार सीजन खेल चुके हैं। उन्होंने अपना अंतिम आईपीएल सीजन साल 2014 में किंग्स इलेवन पंजाब की ओर से खेला था। इससे पहले पुजारा केकेआर और आरसीबी की तरफ से भी खेल चुके हैं। हालांकि इस बार किसी भी टीम ने पुजारा पर दांव नहीं लगाया है।

मुनाफ पटेल

munaf patel759

भारतीय टीम में कुछ मैचों में खेलने वाले मुनाफ पटेल आईपीएल में भी मुंबई इंडियंस की तरह से कुछ मैचों में खेल चुके हैं। साल 2013 में खराब प्रदर्शन के बाद मुनाफ पटेल को मुंबई इंडियंस ने टीम से बाहर कर दिया था। इसके बाद लगातर 3 सीजन तक कोई बोली नहीं लगी।

लेकिन साल 2017 में उन्हें गुजरात लायंस ने अपनी टीम में शामिल किया। हालांकि इस दौरान मुनाफ ने खास प्रदर्शन नहीं किया। हो सकता है कि यह मुनाफ के करियर का आखिरी आईपीएल था। क्योंकि उन्होंने घरेलू खेल में भी कोई खास छाप नहीं छोड़ी है।

अशोक डिंडा

216

बंगाल के अनुभवी गेंदबाज अशोक डिंडा के लिए आईपीएल काफी निराशा भरा है। डेथ ओवर में काफी लेथ की गेंद कराने को लेकर आईपीएल में डिंडा की अलोचना की जाती है। डिंडा कोलकाता नाइट राइडर्स, दिल्ली डेयरडेविल्स, पुणे वॉरियर्स इंडिया, रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर और राइजिंग पुणे सुपरग्रियट के लिए खेले चुके हैं। इस बार आईपीएल की नीलामी में अशोक डिंडा अनसोल्ड गए हैं। हो सकता है कि अशोक डिंडा इसके बाद फिर कभी आईपीएल में ना दिखे।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *