Prev1 of 4
Use your ← → (arrow) keys to browse

मौजूदा समय में ट्वेंटी-20 क्रिकेट को सबसे ज्यादा लोकप्रिय माना जाता है. जब से टी20 क्रिकेट का विस्तार देखने को मिला है, तब से खेल प्रेमियों ने टेस्ट क्रिकेट से काफी दूरी बना ली है. भले ही आज के समय में वनडे और टी20 क्रिकेट के फैंस ज्यादा हो लेकिन इस बात से मुहं नहीं मोड़ा जा सकता कि जो मजा टेस्ट क्रिकेट में आता है, वह बाकि फॉर्मेट में कहाँ.

आज अपने इस लेख के जरिये हम आपको टीम इंडिया के उन चार खिलाड़ियों के बारे में बताने जा रहे है, जिन्होंने वनडे क्रिकेट में तो बहुत अधिक नाम कमाया लेकिन टेस्ट क्रिकेट में अपना वर्चस्व कायम नहीं कर सके.

आइये डालते है, एक नजर टीम इंडिया के ऐसे ही चार खिलाड़ियों के नाम पर :

~ अजय जडेजा

image by : twitter

49 वर्षीय अजय जडेजा टीम इंडिया के सबसे स्टाइलिश खिलाड़ियों में से रहे है. दिलकश बल्लेबाजी के मशहूर अजय जडेजा ने एकदिवसीय स्तर पर देश के लिए बहुत नाम कमाया. मगर टेस्ट क्रिकेट में सफलता हासिल करने में नाकाम रहे.

सन 1992 में दक्षिण अफ्रीका के विरुद्ध डरबन में अजय जडेजा ने अपने टेस्ट करियर का आगाज किया था और सन 2000 तक उन्होंने सिर्फ 15 टेस्ट खेले. 15 टेस्ट की 24 पारियों में अजय ने 26.18 की औसत के साथ सिर्फ 576 रन बनाये. इस दौरान उनके बल्ले से केवल चार अर्द्धशतक देखने को मिले और सबसे बढ़िया प्रदर्शन 96 रन का रहा.

image by : google

वही अपने करियर की इन्हीं आठ सालों में अजय जडेजा ने भारत के लिए 196 वनडे मैचों में हिस्सा लिया और 179 पारियों में 37.47 की औसत के साथ 5359 रन बनाने में कामयाब हुए. वनडे में जडेजा के नाम पर छह शतक और 30 अर्द्धशतक दर्ज है.

साथ ही एकदिवसीय क्रिकेट में अजय जडेजा ने 5.25 की इकॉनमी के साथ 20 विकेट भी हासिल किये. सन 2000 में मैच फिक्सिंग में नाम आने के बाद अजय जडेजा के करियर पर पूर्व विराम लग गया.

Prev1 of 4
Use your ← → (arrow) keys to browse

AKHIL GUPTA

क्रिकेट...क्रिकेट...क्रिकेट...इस नाम के अलावा मुझे और कुछ पता नहीं हैं. बस क्रिकेट...