ipl 2023- FTP
Prev1 of 3
Use your ← → (arrow) keys to browse

29 मई को IPL के 15वां एडीशन (IPL 2022) के फाइनल में राजस्थान रॉयल्स को 7 विकेट से हराकर हार्दिक पांड्या की गुजरात टाइटंस ने ट्रॉफी अपने नाम कर ली। यह एक रिकॉर्ड तोड़ने वाला सीजन था जिसमें आईपीएल के एक सीजन में सबसे ज्यादा छक्के मारे गए थे।

टूर्नामेंट शुरू होने से पहले बीसीसीआई ने मौजूदा नियमों में कुछ बदलाव किए थे। जिसमें से सबसे अहम नियम था रिव्यू के नियम में बदलाव। पहले प्रत्येक पारी में टीमों को केवल दो रिव्यू की अनुमति थी। लेकिन आईपीएल 2022 (IPL  2022) में प्रत्येक टीम को दो रिव्यू मिले, यानी पूरे मैच में कुल चार रिव्यू।

एक और बदलाव जो बीसीसीआई ने आईपीएल 2022 (IPL  2022) में किया था वो ये था कि अगर बल्लेबाज आउट हो जाता है, तो नए बल्लेबाज को स्ट्राइक लेना होगा. फिर चाहे आउट होने वाले बल्लेबाज ने स्ट्राइक दूसरे बल्लेबाज को ही क्यों ना दे दी हो।

इन बदले हुए नियमों की वजह से आईपीएल 2022 (IPL 2022) और भी दिलचस्प बन गया था। ऐसे में अब बीसीसीआई आईपीएल 2023 (IPL 2023) को भी रोमांचक बनाने के लिए नियमों में बदलाव कर सकती है। इस आर्टिकल के जरिए हम उन 3 नियमों में बदलाव की बात करेंगे जिससे अगला सीजन (IPL 2023) और भी शानदार और दिलचस्प हो जाएग….

इन 3 नियमों में बदलाव बना सकते हैं IPL 2023 को और भी दिलचस्प

स्लॉग ओवरों में 30 गज घेरे में ज्यादा फील्डर्स की अनुमति

ipl 2022

अगर आईपीएल 2023 (IPL 2023) को और दिलचस्प बनाना है तो , बीसीसीआई को सबसे बड़ा बदलाव फील्डिंग में लाना होगा। दरअसल आईपीएल के मौजूदा नियम के मुताबिक, पावरप्ले में 30 गज के घेरे के बाहर सिर्फ दो फील्डर्स को ही फील्डिंग करने की अनुमति है।

लिहाजा बल्लेबाज पारी के शुरुआती चरण में फील्ड रेस्ट्रिक्शन का पूरा फायदा उठाते हैं। ऐसे में अगर 16 से 20 के ओवर के बीच बाउन्ड्री में एक और फील्डर की अनुमति दी जानी चाहिए। मौजूदा समय में पहले छह ओवर के बाद पांच फील्डर्स को रिंग से बाहर जाने की अनुमति है।

एक एक्स्ट्रा फील्डर की उपस्थिति बल्लेबाजों को शानदार शॉट्स लगाने के बारे में पर मजबूर कर सकते हैं, जिससे गेंदबाजों को आउट करने का मौका मिलेगा। नियम गेंदबाजों को फायदा दे सकता है, लेकिन जिस खेल में बल्ले का दबदबा होता है, उसमें यह नियम बिल्कुल सही है।

Prev1 of 3
Use your ← → (arrow) keys to browse