deepak chahar indian t20
Prev1 of 2
Use your ← → (arrow) keys to browse

टी20 विश्वकप में खेलने के लिए भारतीय टीम का चयन किया जा चुका है। टीम में लगभग सभी महारथी खिलाड़ियों को चुना गया है, जो अंत समय तक सिर्फ मैच जीतने की ही कोशिश में लगे रहते हैं। टीम में सभी प्रकार के बेहतरीन बल्लेबाज, गेंदबाज और आलराउंडर खिलाड़ियों को शामिल किया गया है।

लेकिन, फिर भी बता दें कि टीम में एक कमी जरुर छोड़ दी गई है। एक गेंदबाजी आलराउंडर खिलाड़ी दीपक चाहर (Deepak Chahar) को भी टीम का हिस्सा बनाया जाना चाहिए था, जो कि टीम के लिए रिकॉर्डधारी हैं। आपको हम बताएंगे कि क्यों उन्हें विश्वकप टीम में चुना जाना चाहिए था।

इन तीन कारणों से Deepak Chahar को टीम में चुना जाना चाहिए था

1. अच्छे आंकड़े

deepak india

हम सभी जानते हैं कि भारतीय तेज गेंदबाज दीपक चाहर (Deepak Chahar) कितनी बेहतरीन गेंदबाजी करते हैं। 2019-20 में बांग्लादेश के खिलाफ भारतीय टीम की तरफ से पहली बार हैट्रिक विकेट लेते हुए सिर्फ सात रन देकर छह विकेट लिए थे।

 साथ ही अभी तक उन्होंने सिर्फ 14 ही मैच खेले हैं, जिनमें 7.59 की इकॉनमी के साथ उन्होंने कुल 20 विकेट लिए हैं। हालांकि अभी तक उन्हें बल्लेबाजी के मौके नहीं मिले हैं, लेकिन गेंदबाजी से वो विपक्षी टीम की कमर ऐसे ही तोड़ देते हैं, कि उनको बल्लेबाजी की जरुरत ही नहीं पड़ती है।

Prev1 of 2
Use your ← → (arrow) keys to browse