भारतीय टीम- ब्रिस्बेन टेस्ट मैच
Prev1 of 3
Use your ← → (arrow) keys to browse

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेले जाने वाले चौथे व आखिरी टेस्ट मैच का आगाज गाबा, ब्रिस्बेन में हो चुका है। एक तरफ टीम इंडिया अपने अनुभवी खिलाड़ियों की चोट के कारण परेशान है, जिसके कारण उन्होंने गाबा टेस्ट मैच में ज्यादा से ज्यादा युवा खिलाड़ी प्लेइंग टीम का हिस्सा हैं।

आखिरी टेस्ट मैच में दोनों ही टीमें अपनी जान लगा रही हैं, क्योंकि अब तक सीरीज में 1-1 जीत हैं और ये मैच सीरीज निर्णायक होने वाला है। मगर मैच के पहले ही दिन भारतीय टीम के खिलाड़ी मैदान पर गलतियां करते नजर आए।

तो आइए इस आर्टिकल में आपको बताते हैं कि पहले दिन ही दिन भारतीय क्रिकेट टीम ने तीन ऐसी बड़ी गलतियां की हैं, जिन्हें सुधारना टीम के लिए बेहद जरुरी है।

ब्रिस्बेन टेस्ट की पहली पारी में टीम इंडिया द्वारा देखने को मिली ये तीन बड़ी गलतियां

1 – कुलदीप यादव को मौका ना देना

India bowler Kuldeep Yadav

ब्रिस्बेन टेस्ट के पहले ही दिन टीम इंडिया की सबसे बड़ी गलती टॉस के समय पर देखने को मिली। टॉस पर भारतीय टीम के कार्यवाहक कप्तान अजिंक्य रहाणे ने चोट के चलते बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी मे बाहर हो चुके रविंद्र जडेजा के स्थान पर वाशिंगटन सुंदर को मौका दिया।

ऐसा माना जा रहा था, कि कुलदीप यादव गाबा टेस्ट खेल सकते हैं लेकिन ऐसा देखने को नहीं मिला. हालांकि अश्विन के अंतिम एकादश में ना होने के बाद भी टीम मैनेजमेंट ने कुलदीप को प्लेइंग इलेवन में मौका देना जरुरी नहीं समझा।

ऑस्ट्रेलिया के पिछले दौरे पर कुलदीप यादव को एक टेस्ट खेलने का मौका मिला था और उन्होंने किसी को निराश ना करते हुए पांच विकेट अपनी झोली में डाले थे। ऐसे में उनका अनुभव टीम के बहुत काम आ सकता था, लेकिन एक बार फिर से कप्तान रहाणे और टीम मैनेजमेंट की उनको बाहर रखने की सोच हर किसी कि समझ से काफी दूर रही.

Prev1 of 3
Use your ← → (arrow) keys to browse