इसमें कोई दो राय नहीं कि हर मुकबाले में खिलाड़ी अपनी टीम को जीतते हुए देखना चाहता है। जब बात वर्ल्डकप की हो तो खिलाड़ी जीत के लिए जी-जान लगा देते है। हो सकता है एक खिलाड़ी अपने देश के लिए कई विश्वकप खेल गया हो, लेकिन उसकी मौजूदगी में टीम एक भी विश्वकप नहीं जीती हो।

Pic credit: Getty images

विश्व विजेता बनने के दौरान अपनी टीम का सदस्य होना बहुत गर्व की बात है। भारत के सचिन रमेश तेंदुलकर विश्वकप में भारत का प्रतिनिधित्व 5 बार कर चुके है। लेकिन किसे पता था कि वर्ल्डकप अपने हाथों से उठाने का उनका सपना 2011 में, मुम्बई के वानखेड़े स्टेडियम में पूरा होगा।

खैर सचिन का भारत के लिए वो आखिरी वर्ल्डकप था। सचिन क्रिकेट के मैदान को अलविदा कह चुके है। आइए नजर डालते है ऐसे ही कुछ खिलाड़ियों पर जिनके लिए 2019 वर्ल्डकप आखिरी वर्ल्डकप होगा।

#1. महेंद्र सिंह धोनी( भारत)

Pic credit: Getty images

आज विश्व में महेंद्र सिंह धोनी का नाम कौन नहीं जानता है।ऐसे क्रिकेट फैन मिलना थोड़ा मुश्किल है जो धोनी का नाम नहीं सुने हो। भारत के लिए इतिहास रचने वाले पूर्व भारतीय कप्तान को कैप्टन कूल के नाम से हर कोई जानता है।

धोनी एक मात्र ऐसे भारतीय कप्तान है जिनके नाम भारत को तीनों आईसीसी ट्रॉफी दिलाने का रिकॉर्ड है।

Pic credit: Getty images

क्रिकेट के मैदान पर धोनी का दिमाग इतना संतुलित रहता है कि उनका हर फैसला टीम इंडिया के लिए उचित रहता है। लेकिन उनजे उम्र की सीमा को देखते हुए यह कहना उचित है कि 2019 वर्ल्डकप उनका आखिरी विश्वकप हो सकता है। हालही जुलाई 2018 में धोनी 37 साल के हो गए है।2019 विश्वकप जीत कर धोनी भारत के लिए दो विश्वकप जीतने वाले पहले भारतीय जरूर बनना चाहेंगे।

ENGvsIND: वनडे सीरीज के लिए भारतीय टीम में शामिल हुआ ब्रेट ली जैसा खतरनाक गेंदबाज

#2. क्रिस गेल( वेस्ट इंडीज)

Pic credit: Getty iamges

गेंदबाजो में इस बल्लेबाज का खौफ़ न हो ऐसा हो नहीं सकता। जिस दिन इनका बल्ला चलता है इनकी पारी देखने लायक होती है। टी-20 फॉरमेट में 175 रन मारने वाला यह बल्लेबाज वेस्ट इंडीज का खिलाड़ी है। विश्वकप जैसे बड़े मुकाबलों में किसी भी गेंदबाज का कैरियर चौपट करने की क्षमता क्रिस गेल रखते है।

Pic credit: Getty images

यह उन बल्लेबाजों में से है जो अपने लय में आ जाए तो मैदान में मौजूद दर्शकों का पैसा वसूल हो जाता है। खड़े-खड़े लंबे छक्के मारने वाले गेल 38 साल के हो गए है। 2019 वर्ल्डकप उनका आखिरी हो सकता है और गेल इसे अपने साथ ले जाना चाहेंगे।

#3. शोएब मलिक( पाकिस्तान)

Pic credit : Getty images

पाकिस्तान के बेहतरीन खिलाड़ियों में एक नाम शोएब मलिक का आता है। अब तक मलिक पाकिस्तान के लिए 261 एकदिवसीय मुकाबले खेल चुके है। पाकिस्तान टीम के लिए मलिक एक ऐसे बल्लेबाज है, जो मैच जिताने वाली पारियां खेलना जानते है। यहां तक की पाकिस्तान के लिए कई बार ऐसा कर भी चुके है।

Pic credit: Getty images

आने वाले 2019 विश्वकप में शोएब पाकिस्तान के लिए एक महत्वपूर्ण खिलाड़ी का रोल अदा करेंगे। अपने पूरे अनुभव के साथ वर्ल्डकप में मलिक पाकिस्तान की रीढ़ की हड्डी बनने का प्रयास करेंगे। पाकिस्तान टीम भी यह वर्ल्डकप जीत उन्हें तौहफ़ा देना चाहेंगी।

#4. लसिथ मलिंगा( श्रीलंका)

Pic credit:Getty images

अपने अद्भुत बोलिंग एक्शन के लिए जाने जाने वाले मलिंगा श्रीलंका के महान गेंदबाजों में से एक है। ये ऐसे गेंदबाज है जो अपने सटीक यॉर्कर से बल्लेबाजों के पैर का अंगूठा तोड़ने की क्षमता रखते है। ऐसा गेंदबाज क्रिकेट इतिहास में कम ही देखने को मिला है।

Pic credit: Getty images

मलिंगा 34 वर्ष के हो गए है और पिछले कुछ सालों से अपने लय से बाहर दिखे है। 2019 विश्वकप उनके क्रिकेट कैरियर का आखिरी बड़ा मुकाबला हो सकता है। ऐसे में मलिंगा इसे जीत कर क्रिकेट सफर को और श्रीलंकाई फैंस को अलविदा कहना चाहेंगे।

#5. ओएन मोर्गन ( इंग्लैंड)

Pic credit: Getty iamges

मोर्गन की कप्तानी में इंग्लैंड टीम में काफी सुधार आया है। 2018 का साल तो इंग्लैंड के लिए मोर्गन की कप्तानी में खुशियां ले कर आया। हालही ऑस्ट्रेलिया को एकदिवसीय श्रृंखला में 5-0 से इंग्लैंड ने व्हाइट वाश कर दिया।

Pic credit: Getty images

यूं तो 2006 में मोर्गन ने आयरलैंड से खेल ,अपने क्रिकेट कैरियर की शुरुवात की थी। लेकिन साल 2010 में ओएन मोर्गन इंग्लैंड टीम के हिस्सा बन गए। तब से वो इंग्लैंड के लिए खेल रहे है। मोर्गन 32 साल के हो गए है और 2023 विश्वकप तक बने रहना उनके लिए काफी मुश्किल साबित होगा। जहां तक उम्मीद की जा रही है 2019 विश्वकप उनका आखिरी बड़ा आईसीसी एकदिवसीय टूर्नामेंट हो सकता है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *