जब सुरेश रैना ने बचाया था Virat Kohli का डूबता करियर, खुद कोहली ने बताया कैसे ढूंढा था उनके भीतर का मैच विनर
जब सुरेश रैना ने बचाया था Virat Kohli का डूबता करियर, खुद कोहली ने बताया कैसे ढूंढा था उनके भीतर का मैच विनर

Virat Kohli: सुरेश रैना और विराट कोहली (Virat Kohli) भारतीय क्रिकेट टीम के 2 बड़े चेहरे रहे हैं. दोनों खिलाड़ी टीम इंडिया के लिए बड़े मैच विनर रहे हैं. भारतीय टीम में सुरेश रैना विराट कोहली से 3 साल सीनियर थे लेकिन दोनों खिलाड़ियों ने लंबे समय तक एक साथ टीम इंडिया के लिए खेला और दर्जनों मैच जितवाए.

रैना अंतराष्ट्रीय क्रिकेट और आईपीएल से संन्यास ले चुके हैं और आईपीएल में कमेंट्री कर रहे हैं जबकि विराट कोहली खेल रहे हैं. आईपीएल में आरसीबी और सीएसके के बीच 18 मई को होने वाले अहम मैच से पहले विराट ने सुरेश रैना (Suresh Raina) के बारे में एक बड़ी दिलचस्प कहानी सुनाई जो वायरल हो रही है.

Virat Kohli ने सुनाई 2008 की कहानी

  • विराट कोहली (Virat Kohli)  ने जियो सिनेमा से बात करते हुए 2008 की एक कहानी को याद किया. ये कहानी सुरेश रैना से जुड़ी हुई है.
  • विराट ने कहा कि हम दोनों पहली बार 2008 में ऑस्ट्रेलिया में एमर्जिंग कप में मिले थे.
  • विराट शुरुआती कुछ मैचों में मध्यक्रम में बैटिंग करते हुए फ्लॉप रहे थे. रैना ने कुछ मैचों बाद टीम बतौर कप्तान ज्वॉइन की थी.
  • रैना ने नेट्स में विराट कोहली को बैटिंग करते हुए देखा और उनकी क्षमता से प्रभावित हुए. रैना ने कोहली से टीम से बाहर रहने का कारण पूछा.
  • विराट ने कहा कि खराब फॉर्म की वजह से वे टीम में नहीं हैं. इसके बाद रैना ने विराट को ओपनिंग करने की सलाह दी.
  • बतौर ओपनर विराट ने शतक लगा दिया और उसी शतक की बदौलत वे भारतीय टीम में आ गए.
  • 2008 में विराट का वनडे डेब्यू हुआ था. विराट के डेब्यू में रैना (Suresh Raina) की सलाह बहुत अहम रही थी.

मध्यक्रम की ताकत रहे दोनों

  • विराट कोहली (Virat Kohli) और सुरेश रैना (Suresh Raina) लंबे समय तक वनडे और टी 20 में भारतीय मध्यक्रम बल्लेबाजी की ताकत रहे. इन दोनों ने एक साथ साझेदारियां करते हुए दर्जनों मैच भारत को जितवाए थे.
  • रैना और विराट 2008 से 2018 तक 10 साल तक भारत के लिए बड़े मैच विनर के तौर पर खेले हैं. विराट कोहली तीसरे तो सुरेश रैना चौथे नंबर पर बल्लेबाजी के लिए आते थे.

ये भी पढ़ें- SRH vs PBKS मैच से पहले बड़ा उलटफेर, अचानक टीम ने बदल दिया कप्तान, इस भारतीय को सौंपी कमान

सुरेश रैना के करियर पर नजर

  • सुरेश रैना (Suresh Raina) ने 2005 में अंतराष्ट्रीय करियर का आगाज किया था. 2006 में टी 20 और 2010 में टेस्ट में उन्होंने डेब्यू किया था. रैना ने अपना आखिरी अंतराष्ट्रीय मैच 2018 में खेला था.
  • करियर पर नजर डालें तो 18 टेस्ट में 1 शतक और 7 अर्धशतक लगाते हुए 768 रन और 13 विकेट, 226 वनडे में 5 शतक और 36 अर्धशतक लगाते हुए 5615 रन और 36 विकेट, 78 टी 20 में 1 शतक और 5 अर्धशतक लगाते हुए 1604 रन और 13 विकेट रैना के नाम दर्ज हैं.
  • रैना वनडे विश्व कप 2011 और चैंपियंस ट्रॉफी 2013 जीतने वाली टीम के सदस्य रहे थे.

ये भी पढ़ें- रिंकू-शुभमन को छोड़िए, T20 वर्ल्ड कप 2024 से इस खिलाड़ी को बाहर करना रोहित शर्मा को पड़ेगा भारी