Sarfaraz Kahan
Sarfaraz Kahan

Sarfaraz Khan: घरेलू क्रिकेट में लगातार रन बनाने वाले खिलाड़ी को लगातार नजरअंदाज कर रही है BCCI, फिर झेलनी पड़ सकती है करारी शिकस्त∼ सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी के फाइनल मैच में मुंबई और हिमाचल प्रदेश के बीच 5 नवंबर को ईडन गार्डन्स के मैदान कोलकाता में खेला गया था. जिसमें अजिंक्य रहाणे की अगुवाई वाली मुंबई की टीम ने हिमाचल प्रदेश को 3 विकेट से शिकस्त दी. इस मुकाबले में मुंबई के विकेटकीपर बल्लेबाज सरफराज खान (Sarfaraz Khan) ने नाबाद 36 रनों की मैच जिताऊ पारी खेली थी.

हाल ही में बीसीसीआई ने न्यूजीलैंड दौरे के लिए 3 वनडे और 3 टी20 मैचों की सीरीज के लिए टीम इंडिया का ऐलान किया था. इस सीरीज का पहला मैच 18 नवंबर को खेला जाना है. जिसमें कई युवा खिलाड़ियों को मौका मिला है. लेकिन घरेलू क्रिकेट में ताबड़तोड़ रन बनाने वाले सरफराज खान को नजरअंदाज कर दिया गया. लेकिन इनके आंकड़े इस बात की गवाही दे रहे हैं कि उन्हें लंबे समय तक टीम इंडिया से बाहर नहीं रखा जा सकता है.

Sarfaraz Khan को न्यूजीलैंड और बांग्लादेश दौरे पर नहीं मिली जगह

घरेलू क्रिकेट में लगातार रन बनाने वाले खिलाड़ी को लगातार नजरअंदाज कर रही है BCCI, फिर झेलनी पड़ सकती है करारी शिकस्त

घरेलू क्रिकेट में  मुंबई के लिए खेलने वाले विकेटकीपर बल्लेबाज सरफराज खान (Sarfaraz Khan) का बल्ला जमकर रन बना रहा है. उन्होंने हाल ही में सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी के फाइनल में अपनी टीम के लिए मैच जिताऊ पारी खेली. इससे पहले भी उन्हें रणजी टॉफी, ईरानी कप और  सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में लगातार रन बनाते हुए देखा है. उनके इस प्रदर्शन के बाद उम्मीद की जा रही थी कि इस साल टीम इंडिया के लिए खेलता हुआ देखा जा सकता है. क्योंकि कुलदीप सेन (Kuldeep Sen) को न्यूजीलैंड के खिलाफ वनडे सीरीज के लिए चुना गया है.

बीसीसीआई ने न्यूजीलैंड दौरे के लिए  3वनडे और 3 टी20 मैचों की सीरीज 15 सदस्यीय दल का ऐलान कर दिया है. जिसमें सरफराज खान (Sarfaraz Khan) का नाम शामिल नहीं है. इसे लेकर फैंस में खासा नाराजगी देखने को मिल रही है. हैरानी की बात तो यह है कि न्यूजीलैंड के खिलाफ तो उन्हें दोनों सीरीज से नजरअंदाज कर दिया गया है. लेकिन बांग्लादेश के खिलाफ भी होने वाले टेस्ट से उन्हें दरकिनार कर दिया गया. जबकि रणजी ट्रॉफी में सरफराज का प्रदर्शन (2 शतक) लाजवाब था औऱ उन्होंने अपने बल्ले से जमकर धमाल मचाया था.

घरेलू क्रिकेट में Sarfaraz Khan के हैं जबरदस्त आंकड़े

Sarfaraz Khan
Sarfaraz Khan

सरफराज़ खान लगातार फर्स्ट क्लास क्रिकेट खेल रहे हैं. जिसमें उनका बल्ला जमकर आग उगल रहा है. वो हर टूर्नामेंट में बड़ी पारी खेलने के लिए जाने जाते हैं. यही कारण है कि सरफराज ने हालिया इस शतक के साथ ऑस्ट्रेलियाई पूर्व क्रिकेटर डॉन ब्रैडमैन को भी पीछे छोड़ दिया था.

दरअसल, ब्रैडमैन (Don Bradman) ने अपने फर्स्ट क्लास करियर में 22 मैचों की 43 पारियों में 83.63 की औसत से बल्लेबाज़ी करते हुए 2927 रन बनाए. जबकि सरफराज खान (Sarfaraz Khan) फर्स्ट क्लास करियर में 29 मैचों की 43 पारियों में 81.33 की औसत से बल्लेबाज़ी करते 2928 रन बनाए हैं. जिसमें 10 शतक और 8 अर्धशतक भी शामिल है.

ईरानी कप 2022 में सौराष्ट्र के खिलाफ था शतक

Sarfaraz Khan

रेस्ट ऑफ़ इंडिया और सौराष्ट्र के बीच ईरानी कप 2022 का मुकाबला राजकोट में खेला गया था जिसमें रेस्ट ऑफ़ इंडिया का प्रतिनिधित्व कर रहे सरफराज़ खान ने एक दमदार शतक जड़कर सबको काफी ज़्यादा प्रभावित किया है. उन्होंने ईरानी कप में रेस्ट ऑफ़ इंडिया के लिए खेलते हुए पहली पारी में 178 गेंदों का सामना कर 138 रनों की शानदार की शतकीय पारी खेली थी. जिसमें उनके बल्ले से 20 चौके और 2 बड़े छक्के भी देखने को मिले थे.

सुनील गावस्कर ने कहा था इस खिलाड़ी को मिले मौका

Sarfaraz Khan

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व खिलाड़ी सुनील गावस्कर (Sunil Gavsakar) ने रणजी ट्रॉफी में धुंआधार रन बनाने वाले बल्लेबाज सरफराज खान को लेकर बड़ी प्रतिक्रिया दी थी क्योंकि सरफराज खान (Sarfaraz Khan) ने रणजी टॉफी में ताबड़तोड़ रन बनाए थे. सरफराज खान ने रणजी ट्रॉफी 2022 के सीजन में एक से बढ़कर एक पारियां खेली है. जिसकी वजह से मुंबई की टीम फाइनल तक पहुंच पाई. हालांकि मुंबई को फाइनल मुकाबले में MP के हाथों हार का सामना करना पड़ा था,

लेकिन सरफराज रणजी में उन्होंने इस सीजन में 6 मैचों में 122.75 की शानदार औसत से 982 रन बनाए. इस टूर्नामेंट में उनके बल्ले से 4 शतक और 2 अर्धशतक देखने को मिले. सरफराज के इस प्रदर्शन के लिए टीम इंडिया में शामिल करने को लेकर आवाजें उठनी शुरू हो गई थी. उनके इस प्रदर्शन के बाद लिटिल मास्टर सुनील गावस्कर ने कहा था कि,

“यदि उनका नाम अगली टेस्ट सीरीज के लिए टीम में नहीं आता है तो यह आश्चर्यचकित करने वाला फैसला होगा. टीम इंडिया भाग्यशाली है कि उनके पास इस तरह के खिलाड़ी हैं. जो सीनियर खिलाड़ियों को जगाने का काम कर रहे हैं.” 

Rubin Ahmad

रूबिन अहमद 'क्रिकेट एडिक्टर' ऑनलाइन में सब एडिटर हैं. दिल्ली विश्वविद्यालय साउथ...