Rajvardhan Hangargekar

Rajvardhan Hangargekar: हाल ही में वेस्टइंडीस में हुए ICC अंडर-19 वर्ल्ड कप में इस खिलाड़ी ने अपनी गेंदों से कमाल किया था और इसलिए आईपीएल नीलामी में सभी फ्रेंचाइजियों की नजरें इस खिलाड़ी पर रहीं। आईपीएल मेगा ऑक्शन में भारतीय जूनियर टीम के कई सितारे बिके। उनमें से एक सितारा है Rajvardhan Hangargekar। आईपीएल 2022 में राजवर्धन हंगरगेकर चेन्नई सुपर किंग्स की तरफ से खेलते हुए नजर आएंगे। चेन्नई सुपर किंग्स का हिस्सा बनने के बाद राजवर्धन हंगरगेकर ने अपने इमोशन्स जाहिर किए।

धोनी का मार्गदर्शन लेंगे Rajvardhan Hangargekar

Rajvardhan Hangargekar

Rajvardhan Hangargekar जूनियर टीम के उभरते हुए सितारे हैं। हंगरगेकर भारतीय जूनियर टीम के दाएं हाथ के गेंदबाज हैं। उन्होंने ICC अंडर-19 में अपनी गेंदबाजी का जलवा दिखाया है। आईपीएल ऑक्शन में हंगरगेकर के लिए टीमों के बीच टशन दिखाई दी। अंत में चेन्नई सुपर किंग ने ये बाजी मार ली। हंगरगेकर को चेन्नई सुपर किंग्स ने 1.5 करोड़ रुपये में अपने साथ जोड़ा है। राजवर्धन को जब चेन्नई सुपर किंग्स में शामिल किया तब वो पल उनके लिए भावुक पल रहा, क्योंकि चेन्नई वो टीम है जो उनके पिता की पसंदीदा थी। आज जब राजवर्धन का नाता इस टीम से जुड़ गया है तो उनके पिता ये दिन देखने के लिए उनके साथ नहीं हैं।

राजवर्धन ने 2020 में कोविड के कारण अपने पिता को खो दिया था।चेन्नई सुपर किंग्स उनके पिता की पसंदीदा टीम थी और टीम के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी उनके पसंदीदा क्रिकेटर। अब कुछ महीनों बाद राजवर्धन चेन्नई सुपर किंग्स की पीली जर्सी में महेंद्र सिंह धोनी के साथ खेलते हुए नजर आएंगे। जब राजवर्धन हंगरगेकर से धोनी की कप्तानी को लेकर सवाल पूछे गए तो उन्होंने जवाब दिया, “मैं उनका मार्गदर्शन लूंगा। उनसे सीखने को काफी कुछ है।”

CSK में शामिल होने से काफी खुश हैं Rajvardhan Hangargekar

Rajvardhan Hangargekar

राजवर्धन ने अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस से बात करते हुए कहा,

“मेरे पिता सीएसके को काफी पसंद करते थे और वह निजी तौर पर उस टीम को फॉलो करते थे। काश कि वो ये दिन देखने के लिए जिंदा होते।  वो जहां भी होंगे निश्चित तौर पर खुश होंगे। मेरे पास शब्द नहीं हैं। ”

ये बात करते हुए राजवर्धन भावुक हो गए। राजवर्धन ने कहा है कि उनके लिए पैसा नहीं खेलना जरूरी है। दाएं हाथ के इस गेंदबाज ने कहा,

“पैसे से ज्यादा मेरे लिए खेलना जरूरी है। जैसे-जैसे मैं प्रदर्शन करता जाऊंगा ये चीजें आती जाएंगी।  इसलिए मेरा ध्यान इस समय क्रिकेट खेलने पर है। ”

राजवर्धन के कोच मोहन जाधव चाहते हैं कि वह धोनी पर निगाहें रखें। उन्होंने कहा,

“आईपीएल में खेलना किसी भी क्रिकेटर का सपना होता है। राजवर्धन को मेरी एक ही सलाह रहेगी कि वो धोनी को देखें और सीखें। मुझे पता है कि अगर उसे मौका मिला तो वह अपनी प्रतिभा दिखा देगा। हां थोड़ी बहुत घबराहट होगी लेकिन वो मानसिक तौर पर मजबूत है। उसने जून 2020 में जब अपने पिता को खोया था तब से मैंने उसे एक इंसान के तौर पर बेहतर होते देखा है।”