IND-W vs SL-W: भारतीय गेंदबाजों के कहर में ढह गई पूरी लंका टीम, 60 रन बनाने में छूटे पसीने, 44 गेंदों में श्रीलंका का काम तमाम, भारत ने विश्व कप में लगाया जीत का चौका
IND-W vs SL-W: भारतीय गेंदबाजों के कहर में ढह गई पूरी लंका टीम, 60 रन बनाने में छूटे पसीने, 44 गेंदों में श्रीलंका का काम तमाम, भारत ने विश्व कप में लगाया जीत का चौका

22 जनवरी को श्रीलंका के खिलाफ अंडर-19 टी20 वर्ल्ड कप में भारतीय महिला क्रिकेट टीम (IND-W vs SL-W) ने शानदार जीत हासिल की है। बीते रविवार पॉचेफ़्सट्रूम में फैंस को दोनों टीमों के बीच दिलचस्प भिड़ंत देखने को मिली। जिसके बाद श्रीलंकाई महिला टीम को शर्मनाक हार का सामना करना पड़ा। पहले बल्लेबाजी करते हुए श्रीलंका ने नियमित 20 ओवरों में 60 रन का मामूली-सा लक्ष्य निर्धारित किया, जिसको भारतीय टीम ने 10 से भी कम ओवरों में प्राप्त कर लिया।

IND-W vs SL-W: भारतीय गेंदबाजों के सामने फ्लॉप हुई श्रीलंकाई टीम

IND-W vs SL-W

टॉस जीतकर भारतीय टीम (IND-W vs SL-W) ने पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया, जिसको गेंदबाजों ने बिल्कुल सही साबित किया। क्योंकि श्रीलंका टीम का कोई भी बल्लेबाज भारतीय गेंदबाजों के सामने ज्यादा देर तक टिक नहीं सका। लिहाजा टीम का उच्च स्कोर 25 रन रहा, जोकि कप्तान विषमी गुणारत्ना द्वारा बना गया। इनके अलावा उमाया रत्नायका 13 रन की पारी खेल श्रीलंका की ओर से सबसे ज्यादा रन बनाने वाली दूसरी खिलाड़ी रही।

इन दोनों के सिवाय कोई भी बल्लेबाज 6 से ज्यादा रन नहीं बना सका। जिसके बाद पहले बल्लेबाजी करते हुए टीम ने 9 विकेट के नुकसान पर 20 ओवरों में 60 रन का टारगेट सेट किया। भारत की ओर से सबसे अधिक विकेट लेने वाली पार्शवी चोपड़ा रही। उन्होंने इस मैच में 4 विकेट अपने नाम दर्ज किए। तितास साधु और अर्चना देवी ने एक-एक विकेट निकाली। मन्नत कश्यप ने दो खिलाड़ियों को शिकार बनाया। हालांकि, सोनम यादव और शेफाली वर्मा के हाथ एक भी सफलता नहीं लगी।

IND-W vs SL-W: भारतीय टीम ने शानदार जीत

IND-W vs SL-W

दिए गए टारगेट को हासिल करने के लिए उतरी भारतीय टीम (IND-W vs SL-W) की शुरुआत कुछ खास नहीं रही। सलामी बल्लेबाज शेफाली वर्मा ने 15 और श्वेता सहरावत ने 13 रन की पारी खेली। ऋचा घोष 4 रन की पारी खेलकर आउट हुई। हालांकि, पांचवें नंबर पर बल्लेबाजी करने आई सौम्या तिवारी ने 15 गेंदों पर 28 रनों की ताबड़तोड़ नाबाद पारी खेली।

इन खिलाड़ियों के इस प्रदर्शन के बाद भारत ने महज 7.2 ओवर में ही निर्धारित लक्ष्य को प्राप्त कर लिया और टीम की 7 विकेट से जीत हुई। श्रीलंका की ओर से देवमी विहंगा ही इकलौती ऐसी गेंदबाज रही जिन्होंने तीन विकेट निकली, जबकि विदूषिका परेरा के हाथों एक भी सफलता नहीं लगी।

ये भी पढ़ें: जीत के लिए 1 ओवर में चाहिए थे 20 रन, हार की कगार पर थी MI, फिर ब्रावो ने दिखाया बल्ले से रौद्र रूप, टीम को दिलाई रोमांचक जीत