"दोनों को ही वो कैच लेना चाहिए था", केएल राहुल और सुंदर पर फूटा Dinesh Karthik का गुस्सा, खराब फील्डिंग देख लगाई फटकार

“दोनों को ही वो कैच लेना चाहिए था”, केएल राहुल और सुंदर पर फूटा Dinesh Karthik का गुस्सा, खराब फील्डिंग देख लगाई फटकार∼

Dinesh Karthik: बांग्लादेश दौरे पर टीम इंडिया के सफ़र की शुरुआत काफी खराब हुई है. तीन वनडे मैचों की सीरीज का पहला मैच भारत 1 विकेट से हार गयी. इस हार के बाद भारत की बल्लेबाज़ी की काफी ज्यादा आलोचना हुई लेकिन इसके अलावा टीम की हार के जिम्मेदार रहे दो कैच ड्राप पर भी सभी काफी निराश नज़र आये. भारतीय फैंस के साथ-साथ दिग्गज खिलाड़ी भी भारतीय फ़ील्डिंग को आड़े हाथ लेते हुए नजर आये. इसी क्रम में अनुभवी बल्लेबाज़ दिनेश कार्तिक (Dinesh Karthik) भी शामिल हो गये है. उन्होने भी राहुल और सुंदर की ख़राब फ़ील्डिंग पर बात करते हुए बड़ा बयान दिया है.

मैच हारने की बड़ी वजह बने “दो ड्राप कैच”

Dinesh Karthik

टीम इंडिया ख़राब बल्लेबाज़ी के बाद 187 रन के छोटे लक्ष्य को बचाने के लिए पूरी कोशिश की. गेंदबाजों ने मैच में एक समय टीम को वापसी भी करवाई लेकिन आखरी ओवरों में मेहदी हसन ने जिस तरह से मैच भारत की पकड़ से छीना वो काबिलेतारीफ रहा. इस जीत में उन्हें एक जीवनदान तब मिला जब केएल राहुल ने उनका एक कैच ड्राप कर दिया. यह कैच मैच का टर्निंग पॉइंट रहा जिसकी वजह से टीम 31 रनों से मैच जीतने के बजाये 1 विकेट से मैच हर गयी.

इसके अलावा केएल राहुल के कैच ड्राप के कुछ ही देर बाद एक और विकेट चटकाने की उम्मीद बनी थी. थर्ड मैन पर एक आसान सा कैच लेने में वाशिंगटन सुंदर ने जरा भी कोशिश ना करते हुए उसको जाने दिया. सुंदर ने कैच की कोशिश ना करते हुए बॉल गिरने पर उनको उठाया और थ्रो कर दिया. उनका कोई इंटेंट ही नज़र नहीं आया. कप्तान रोहित भी काफी नाराज नजर आए.

उनका कैच छोड़ना भारी पड़ गया- Dinesh Karthik

"दोनों को ही वो कैच लेना चाहिए था", केएल राहुल और सुंदर पर फूटा Dinesh Karthik का गुस्सा, खराब फील्डिंग देख लगाई फटकार

दिनेश कार्तिक (Dinesh Karthik) ने टीम की हार पर बात करते हुआ मैच के पोस्ट शो में कहा की यह कैच छोड़ना टीम को काफी महंगा पड़ा है. उनको यह कैच पकड़ना चाहिये था लेकिन यह समझ से परे है की गलती कहा हुई. उन्होंने कहा,

“वह कैच राहुल को लेना चहिये था. उनका कैच छोड़ना भारी पड़ गया. वैसे उस कैच के लिए सुंदर को भी आना चाहिए था. वह भी नहीं आया. उन दोनों से नासमझी हुई. खराब रोशनी के कारण हुई या इसके पीछे कोई और कारण था. इसके बाद खिलाड़ी ही ठीक से बना सकते है मगर उनको कैच लेना चाहिए था मैं नहीं जानता कि यह सब खराब रोशनी के कारण हुआ या और कुछ. मैं नहीं जानता. यदि उसने बॉल देखी थी, तो उसे जाना चाहिए (कैच के लिए) था.”

विकेटकीपर कार्तिक (Dinesh Karthik) ने कहा,

“यह सिर्फ एक सवाल है, जिसका वही जवाब दे सकता है. ओवरऑल फील्डिंग में भारतीय टीम का एफर्ट 50-50 ही रहा. बेस्ट नहीं, तो ये दिन बुरा भी नहीं था. मुझे लगता है आखिर में दबाव के कारण हमने काफी ज्यादा ही बाउंड्री छोड़ दी.”

मेहदी हसन ने तोडा टीम इंडिया का जीत का सपना

Bangladesh won by 1 wickets

टॉस गंवाने के बाद पहले बल्लेबाजी करने के लिए आई टीम इंडिया (Team India) की शुरुआत ही बेहद खराब हुई थी. शिखर धवन 17 गेंदों के संघर्ष के बाद सिर्फ 7 रन बनाकर पवेलियन की ओर लौट चले. वहीं रोहित शर्मा और विराट कोहली ने क्रमश: 27 रन और 9 रन बनाए. श्रेयस अय्यर ने 24 रन की पारी खेलते हुए केएल राहुल के साथ अच्छी साझेदारी की. नियमित अंतराल पर गिरते विकेटो के बावजूद सरे छोर पर केएल राहुल ने 69 गेंदो में 73 रन बनाकर भारत को 186 के संयुक्त स्कोर पर पहुंचाया.

187 रन से छोटे लक्ष्य का पीछा करने उतरी बांग्लादेश टीम की शुरुआत काफी खराब रही. नजमुल हसन शांतों जीरो पर आउट हो गये. इसके बाद कप्तान लिटन दास और अनुभवी मुशफ़ीकुर रहीम ने 58 रनों की साझेदारी करते हुए अपनी टीम को मजबूत स्थिति में पहुंचाया. एक समय पर टीम जीत का अंतर कम होता जा रहा था लेकिन फिर लगातार विकेट गिरने की वजह से टीम इंडिया ने मैच में वापसी की लेकिन फिर अंत में मेंहदी हसन मिराज और मुस्तफिजुर के बीच जबरदस्त साझेदारी के चलते टीम इंडिया को 1 विकेट की हार झेलनी पड़ी. मेंहदी हसन ने इस दौरान 41 रनों की जबरदस्त पारी खेली.