Ajit Agarkar would never like to give place to these 3 players in Team India the time has come to retire

Team India: भारतीय क्रिकेट टीम का वेस्टइंडीज दौरा समाप्त हो चुका है. टीम इंडिया को दो टेस्ट मैचों की सीरीज में 1-0 से और 3 वनडे मैचों की सीरीज में 2-1 से जीती मिली लेकिन 5 मैचों की टी 20 सीरीज में 3-2 से हार का सामना करना पड़ा. टी 20 सीरीज में मिली हार का खामियाजा 2 खिलाड़ियों को भुगतना पड़ सकता है और उन्हें टीम से बाहर का रास्ता दिखाया जा सकता है. साथ ही एक और अनुभवी खिलाड़ी पर अजीत अगरकर (Ajit Agarkar) की गाज गिर सकती है और वो भी टीम इंडिया (Team India) से बाहर हो सकता है. आईए जानते हैं कि अजीत अगरकर किन खिलाड़ियों को टीम से बाहर करने का फैसला कर सकते हैं.

जयदेव उनादट

Jaydev Unadkat
Jaydev Unadkat

जयदेव उनादकट (Jaydev Unadkat) ने भारत के लिए 2010 में डेब्यू किया था लेकिन 13 साल बाद भी वे टीम में अपनी जगह पक्की नहीं कर सके हैं. कभी मौका नहीं मिला तो कभी मौके का फायदा नहीं उठा सके. वेस्टइंडीज के खिलाफ वे टेस्ट और वनडे सीरीज के लिए टीम इंडिया (Team India) का हिस्सा थे लेकिन उनका प्रदर्शन बेहद निराशाजनक रहा और अब उन्हें शायद ही भविष्य में टीम में जगह मिले.दौरे पर वे 2 टेस्ट मैच और 1 वनडे खेले लेकिन उन्हें सिर्फ 1 विकेट मिला. उनादकट भारतीय टीम के लिए 4 टेस्ट, 8 वनडे और 10 टी 20 खेल चुके हैं.

युजवेंद्र चहल

Yuzvendra Chahal
Yuzvendra Chahal

लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल (Yuzvendra Chahal) हाल के दिनों में टीम इंडिया (Team India) में होते हुए भी प्लेइंग XI में जगह न मिलने की वजह से काफी चर्चा में रहे हैं. उन्हें वेस्टइंडीज के खिलाफ वनडे और टी 20 सीरीज में शामिल किया गया था लेकिन वे अपने प्रदर्शन से टीम के लिए बड़ा योगदान देने में सफल नहीं रहे. चहल को वनडे सीरीज में खेलने का मौका नहीं मिला लेकिन सभी 5 टी 20 में उन्हें प्लेइंग XI में शामिल किया गया जिसमें वे सिर्फ 5 विकेट ले सके और आखिरी दो मैचों में काफी महंगे भी साबित हुए. जबकि कुलदीय यादव का प्रदर्शन उनसे बेहतर रहा. संभव है चहल को आगे मौके न मिलें

संजू सैमसन

Sanju Samson
Sanju Samson

संजू सैमसन (Sanju Samson) के बारे में जब भी खबर आती थी तो उनके टीम में शामिल न किए जाने या फिर प्लेइंग XI में जगह न दिए जाने की वजह से की जाती थी. वेस्टइंडीज दौरे पर कप्तान हार्दिक पांड्या ने उन्हें 2 टी 20 और सभी 5 टी 20 मैचों में मौका दिया लेकिन सैमसन इतने मौकों का फायदा नहीं उठा पाए. वे तीसरे वनडे में सिर्फ एक अर्धशतक लगा पाए हालांकि वो उसे बड़े शतक में बदल सकते लेकिन ऐसा नहीं कर सके और सिर्फ 51 रन बना पाए.

इसके बाद 5 टी 20 मैच में 3 बार उन्हें बल्लेबाजी का मौका मिला हर बार उनके पास हिरो बनने का मौका था और हर बार वे जीरो बने. वे 12, 7 और 13 की पारियां खेल पाए. सैमसन का चयन पहले ही आयरलैंड सीरीज के लिए हो चुका है वरना इस प्रदर्शन के आधार पर शायद ही उन्हें मौका मिलता.एशिया कप और विश्व कप के संभावितों से तो शायद अब वे बाहर हो गए हैं.

ये भी पढ़ें- वनडे में इस टीम ने बनाया दुनिया का सबसे शर्मनाक रिकॉर्ड, 41 रन पर गिरे 10 विकेट, मैच का हाल देख दंग रह गए दर्शक